संस्कृति का प्रश्न

अगस्त खत्म हो गया। गांव में अब जाड़ों का आगमन भी हो जाएगा। कितनी जल्दी साल बीत जाते हैं। अब भी आंखें बंद करूँ तो वही नज़ारा दिखता है जो सालों पहले दिखायी पड़ता था। क्या अब भी वही माहौल होगा वहाँ? पिछोड़ा पहने महिलाएं ‘बिरुड़े’ भीगा रही होंगी या अब गमारा के खेल चल […]

संस्कृति का प्रश्न

Leave a Reply